श्री गर्भ गीता भाग 3

आज गर्भ गीता के तीसरे मुख्य संवाद में भगवन श्री कृष्ण अर्जुन को दुखों का कारण समझाते है। बताते है किन पाप कर्मों के कारन मानव जीवन में असहनीय दुःख पाता है। उन दुःखो का क्या कारण है। उसने पिछले जन्मों में ऐसे क्या पाप कर्म किये जिसकी वजह से वह यह दुःख भोग रहा है। आएं अति महत्वपूर्ण संवाद गर्भ गीता का जाने

गर्भ गीता को सरल अर्थ में समझने के लिए इस गर्भ गीता सीरीज को हर माता-पिता अवश्य देखें और अपने शिशु को भी सुनाएं। श्री कृष्ण द्वारा अर्जुन को प्राणी के जीवन मरण और आत्मा के अबूझ रहस्यों के बारे में जो ज्ञान दिया गया है वही गर्भ गीता कहलाता है। यह ज्ञान आपको और आपके शिशु को जीवन में सही राह चुनने में हमेशा मदद करेगा।

Related Videos


See all Videos